ग्लोबल गुमटी

मनमोहन सिंह और मोदी की Note ban योजना

नोटबंदी पर राज्यसभा में क्या कहा मनमोहन सिंह ने…

आज राज्यसभा में पूर्व प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह ने Note ban पर अपनी राय रखी. अपने भाषण में RBI के इस पूर्व गवर्नर और भारत आर्थिक उदारीकरण के प्रमुख डिजायनर ने Note ban की नीति पर कई महत्वपूर्ण सवाल उठाए. यहाँ प्रस्तुत है उनके भाषण के प्रमुख बिंदु –

  • जो लोग यह कह रहे हैं कि नोटबंदी दूर भविष्य की दृष्टी से अच्छा है; उन्हें यह कहावत याद करनी चाहिए कि “दूर भविष्य में हम सब मृत होंगे।”
  •  मैं प्रधानमंत्री से पूछना चाहता हूं कि क्या वह एक भी ऐसे राष्ट्र का नाम बता सकते हैं जहाँ के लोग अपना ही जमा किया हुआ पैसा निकाल नहीं सकते?
  • जिस तरह से यह योजना लागू की गयी है, यह कुप्रबंधन का एक यादगार नमूना बन कर रह गयी है. असल में ये एक संगठित लूट और Legal Plunder (क़ानून का सहारा लेकर दूसरों की संपत्ति हथिया लेना) का उदाहरण है.
  • हमारे 90 प्रतिशत लोग असंगठित क्षेत्र में कार्यरत हैं. कृषि क्षेत्र में कार्यरत हमारे श्रमिकों का 55 प्रतिशत आर्थिक परेशानी झेल रहा है. देश के ग्रामीण क्षेत्रों में निवास कर रही बड़ी आबादी को सेवा प्रदान करने वाली  सहकारी बैंकिंग प्रणाली ठप्प पड़ गयी है क्यूंकि उन्हें नकदी लेन-देन करने से रोक दिया गया है. [ggwebadd]
  • प्रधानमंत्री ने कहा है कि हमें 50 दिनों तक इन्तजार करना चाहिए, 50 दिन एक छोटी अवधि है पर समाज के गरीब और वंचित समूहों के लिए इस 50 दिन की भी यंत्रणा विनाशकारी प्रभाव वाली सिद्ध हो सकती है. और इसलिए 60 से 65 या संभव है और अधिक लोगों ने अपना जीवन खो दिया है.
  • अतः मैं प्रधानमंत्री से अनुरोध करता हूं कि इस योजना के कारण परेशानी झेल रही हमारी बड़ी आबादी को एक व्यवहारिक समाधान प्रदान करने का मार्ग और साधन निकालें.

उनका भाषण के प्रमुख अंश वीडियो में यहाँ देखें

 –Global Gumti

[ggwebadd1]

One Comment on “नोटबंदी पर राज्यसभा में क्या कहा मनमोहन सिंह ने…

Leave a reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

आपकी भागीदारी