ग्लोबल गुमटी

लड़की

इस चहकती लड़की से इसके ‘फर्स्ट किस’ के रुमानी किस्से हर बार अलग अंदाज़ में सुने हैं

बंद घड़ी के कैद में-उम्मीद

3 बजकर 40 मिनट। वह दीवार पर टँगी एक बंद घडी को देख रही है। मैं घडी देखती हुई उस लड़की को। ये वही लड़की है जिसके साथ बारिश में भीगते हुए शम्मी कपूर के गाने गाए हैं।

इस चहकती लड़की से इसके ‘फर्स्ट किस’ के रुमानी किस्से हर बार अलग अंदाज़ में सुने हैं। पहली बार वैक्सिंग के डर से रोती हुई इस लड़की को अपने दाएँ कान को ऊपर से नीचे तक छिदवाते हुए देखा है।

My papa is my hero के साथ गिटार वाला टैटू फ्लॉन्ट करने वाली इस लड़की के साथ सायकायट्रिस्ट के चक्कर लगाते हुए सोचती हूँ क्या ये वही लड़की है!

वही लड़की जिसके हाई हील पहन लेने से बाल बादलों से उलझने लगते थे। वो कोई और थी, जिसे देखकर मैं सोचती थी कि इस लड़की में ठहराव कब आएगा।

वह अब बोलती नहीं है बस बड़बड़ाती है। एक कमरे में बंद हम दो लडकियाँ अगर इस घडी में क़ैद वक़्त से हमेशा के लिए विदा ले लें तो शायद ही कोई जान सकेगा कि बस तीन महीने पहले आई इस रूममेट से मेरा क्या नाता था।

कितनी कहानियाँ लोग एक-दूसरे को सुनाएँगे जिसमें सब होगा सिवाय सच के। हर रोज़ थोडा और छोटा होता जा रहा है ये कमरा। दीवारों को अपने इतने पास आते देख ख़ौफ़ पैदा होता है।

करीब आती दीवारों के साथ यह लड़की भी करीब आ रही है, मैं भागना चाहती हूँ पर घडी पर टँगी एक जोडी आँखें मेरा पीछा नहीं छोड़ती।

लखनऊ से माँ पूछती है कि इंटर्नशिप ख़त्म हो गयी अब तो आ जाओ, पर मैं इस कमरे में पसरे मातम की क़ैद में हूँ। कभी-कभी दिल करता है कि यह वो कदम क्यों नहीं उठा लेती जिससे मैं हर रोज़ डरती हूँ, क्यों मुझे आज़ाद नहीं कर देती जिसके बाद मैं घर लौट सकूँ। नहीं ! नहीं ! वो एक जोड़ी आँखें !

3 बजकर 40 मिनट पर टिकी पत्थर हो चुकी आँखें ! ये मेरा पीछा नहीं छोड़ेंगी। बाहर लगातार गिर रही बारिश की आवाज़ एक अजीब डर का माहौल बना रही है मानो आज की रात कोई आम रात नहीं है कुछ होने वाला है, जिस पर हमारा बस नहीं।

मैं उसे देख ही रही थी कि अचानक आँखें स्मृतियों में इतनी धुंधला गयी कि सामने दीवार खाली नज़र आई। कान गर्म हो गए और सन्नाटे के शोर के साथ हलक में एक पत्थर-सा अटक गया। वह कहाँ गई! कंधे पर एक हाथ आया- ‘चलो बारिश रुक गयी है, डॉक्टर के पास चलें’ – उम्मीद !

One Comment on “इस चहकती लड़की से इसके ‘फर्स्ट किस’ के रुमानी किस्से हर बार अलग अंदाज़ में सुने हैं

Comments are closed.

आपकी भागीदारी